Famous landmarks of ancient Rome

रोम के कोलोज़ियम और ट्रैवी फ़ाउंटेन के साथ वेटिकन का सफ़र

When in Rome, do as romans do. सेंट ऑगस्टीन की कही इस बात को मानते हुए, अपनी यूरोप यात्रा के आखरी पड़ाव पर, हम आ…

ल्यूसर्न की रूस नदी और ख़ूबसूरत चैपल ब्रिज

अपनी यूरोप यात्रा के अगले दिन हम सुबह-सुबह बस में बैठकर पेरिस से ल्यूसर्न की तरफ़ निकले. ये सफ़र क़रीब 600 किलोमीटर का था और…

फ़्लोरेंस की अनोखी मूर्तियां और पीसा की झुकी मीनार

किताबों के पन्ने पलटते हुए माइकलएंजिलो और गैलीलियो के नाम ज़िंदगी में आए और ज़िंदगी के पन्ने पलटते हुए आज मैं उनकी यादों के शहर…

लोकतक झील के अनौखे तैरते द्वीप की यात्रा (मणिपुर ट्रिप-2)

मणिपुर यात्रा का पहला भाग यहां पढ़ें अगले दिन मणिपुर के इम्फ़ाल से करीब 40 किलोमीटर का सफ़र तय करके हम मोईरांग पहुंचे. वहां से…

कांगला फ़ोर्ट और इमा बाज़ार की यात्रा (मणिपुर ट्रिप -1)

सुबह के साढ़े-चार बज रहे थे. नेशनल हाइवे-39 पर मौजूद माओगेट से नागालैंड की सीमा समाप्त हुई और हमने मणिपुर में प्रवेश कर लिया. देश…

साहित्य आज तक 2019 में घुमक्कड़ी पर चर्चा

साहित्य आजतक 2019 में ‘एवरेस्ट से भी ऊंचा’ नाम से सेशन हुआ जिसमें उमेश पंत ने भी अपनी बातें रखी. उन बातों का लब्बोलुबाब ‘आजतक’…

कामसूत्र की मूर्तियों के लिए मशहूर खजुराहो में एक दिन

साल 2016 के मार्च का महीना था. मैं तब बुंदेलखंड के बीहड़ इलाके में एक रिपोर्टिंग असाइनमेंट पर था जब पता चला कि खजुराहो यहां…

20 हज़ार फ़ीट से भी ज़्यादा ऊंचे ओम पर्वत की यात्रा

यह उमेश पंत के यात्रावृत्तांत ‘इनरलाइन पास’ का एक अंश है. पूरा यात्रा वृत्तांत पढ़ने के लिए किताब यहां से मंगा सकते हैं. हम इस…

त्रयम्बकेश्वर, जहां 12 साल में लगता है कुंभ मेला

अगर कभी हसीन पहाड़ी वादियों में जाकर धार्मिक आस्था से सराबोर होने का मन हो तो त्रयम्बकेश्वर आपके लिए एकदम मुफ़ीद जगह है। महाराष्ट्र के…

पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक पर जाने से पहले यह ज़रूर पढ़ें

नोट : यह लेख हिन्दी दैनिक अख़बार ‘दैनिक जागरण में प्रकाशित हो चुका है’   ट्रैकिंग में रुचि रखने वालों के लिए पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक…

अलीबाग, काशिद, मुरुड और दिव्यागार बीच का सफ़र

मुंबई में रहते हुए कभी-कभी मुंबई से  दूर जाने का मन होता है। पागल करती भीड़ से दूर। एक बेवजह सा प्रदूषित ठहराव लाते ट्रेफिक…

अरुणाचल प्रदेश यात्रा : बोमडिला से तवांग वाया सेला पास

यह लेख मूलतः  ‘दैनिक जागरण’ के लिए लिखा गया था जो अख़बार के ‘सप्तरंग’ पन्ने पर प्रकाशित हो चुका है.      पूर्वोत्तर के शांत…

पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-3

यहां पढ़ें पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-1 पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-2 दिन 4 14 जून 2019 फुरकिया–ज़ीरो पॉइंट–द्वाली सुबह-सुबह नींद खुली तो सर का भारीपन…

पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-2

यहां पढ़ें : पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक – भाग एक  दिन 3 13 जून 2019 खाती–फुरकिया सुबह के 8 बजे जब हम खाती गाँव से निकले तो…

पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-1

नौ जून की रात के नौ बजे तक मैं अपना सारा ज़रूरी सामान एक रकसैक में डाल चुका था। कुछ गर्म कपड़े, साफ़-सफ़ाई का सामान,…

नज़ारे, नागालैंड की ख़ूबसूरत ज़ूको वैली के

नागालैंड देश के उन राज्यों में से हैं, जिसके बारे में लोग आज भी कम जानते हैं. इस राज्य में क़रीब 17 जनजातियां रहती हैं…

तेजपुर : मिथकों और मोहब्बत का शहर

असम के तेजपर से लौटकर लिखा गया यह लेख ‘दैनिक जागरण’ के राष्ट्रीय संस्करण में प्रकाशित हो चुका है. लहराती हुई विशाल ब्रह्मपुत्र नदी के…

तो ऐसी है वैली ऑफ़ फ़्लावर्स की दुनिया

उत्तराखंड में यूं तो ट्रेकिंग के कई ठिकाने हैं, लेकिन एक जगह जहां आपको अपनी ज़िंदगी में एक बार ज़रूर जाना चाहिए वो है-वैली ऑफ़…

उत्तराखंड में ट्रेकिंग के ख़ूबसूरत ठिकाने केदारकांटा की तस्वीरें

उमेश पंत : उत्तराखंड में उत्तरकाशी ज़िले के सांकरी नाम के एक छोटे गाँव से खुलते हैं जन्नत के दरवाज़े। केदारकांटा सांकरी से क़रीब 8…

उत्तराखंड के बेहतरीन ट्रैक में से एक केदारकांटा की ट्रेकिंग

बर्फ़ीले रास्ते, जमी हुई झील के किनारे रात को कैम्पिंग, 12500 फ़ीट की ऊंचाई से हिमालय के दीदार, उत्तराखंड में केदारकांटा के इस एक ट्रैक…

नैन सिंह रावत : एक पहाड़ी ‘ट्रेवल सूपर हीरो’

उमेश पंत : चलते-चलते दिमाग भी एक यात्रा पर निकल पड़ता है. वो यात्रा जो थकान के एहसास को कहीं पार्श्व में डाल देती है.…
Aadi Kailas trek last point

17 हज़ार फ़ीट की ऊँचाई पर दिखती है ज़िंदगी की गहराई

यह उमेश पंत के यात्रावृत्तांत ‘इनरलाइन पास’ का एक अंश है. पूरा यात्रा वृत्तांत पढ़ने के लिए किताब यहां से मंगा सकते हैं.   हम…

सोलांग वैली : बर्फ से बाबस्ता वो ढाई घंटे

ये एक आम ट्रिप होने जा रहा था. हम पहली रात कुल्लू (हिमांचल प्रदेश) में एक होटल बुक कर चुके थे. जिसकी बालकनी से जगमगाता…

आपकी ज़िंदगी से बात करती एक फिल्म : ‘Her’

 फेसबुक पर एक दोस्त के स्टेटस को देखकर ये फिल्म डाउनलोड की और अब रात के दो बजकर 30 मिनट हो चुके हैं..वो फिल्म जो अभी…

आय हाय रे मिजाता

उत्तराखंड के लोक-गायक ‘हीरा सिंह राणा’ की गीतों के क्रम में एक और गीत ‘गुल्लक’ के ज़रिये आपको सुनाया जा रहा है.. ‘मिजाता’ नाम के…

‘उत्तराखंड आन्दोलन’का जनगीत ‘लस्का कमर बांधा’

पिछली पोस्ट में आपने सुना उत्तराखंड के  मशहूर जनकवि और गीतकार हीरा सिंह राणा का गाया  गीत ‘संध्या ‘. आज सुनिए उनका लिखा और गाया…

लड़के के लिए तबाह होती जिंदगियों का ‘किस्सा’

  पिछले मुंबई फिल्म फेस्टिवल में अनूप सिंह के निर्देशन में बनी फिल्म ‘किस्सा’ देखी थी.. उसी फिल्म पर की गई टिप्पणी को यहां पोस्ट…

एक ‘क्वीन’का आज़ाद होना

दिल्ली में कॉलेज आने जाने वाले लड़कों के बीच एक टर्म बहुत प्रचलित है। ‘बहन जी‘। ‘बहन जी टाइप‘ होना शहरी परिप्रेक्ष में एक लड़की…

पत्थर नहीं लगवाया तो प्रसाद नहीं दिया

(यह लेख गाँव कनेक्शन  के ४४ वें अंक में प्रकाशित हो चुका है.) अयोध्या के बारे में अब तक अर्जित मेरी सारी जानकारियों के स्रोत किताबी…

सुपरमैन आफ मालेगांव

वे फैज नहीं हैं फैजा हैं इसलिए उनका अंदाजे बयां अलहदा है। फैज शब्दों से अपनी बात कहते थे फैजा ने वृत्तचित्र के जरिये कही।…

मैन विद मूवी कैमरा : कैमरा जब आंख बन जाता है

फिल्मों में रुचि रखने वाले लोगों के लिए मैन विद मूवी कैमरा एक कमाल की फिल्म है। जिस दौर में सिनेमा की शुरुआत होती है…

एक गुफा जहां होता है पाताल लोक का अहसास

उत्तराखंड की पहाड़ी वादियों  के बीच बसे सीमान्त कस्बे गंगोलीहाट की पाताल भुवनेश्वर गुफा किसी आश्चर्य से कम नही है। यहां पत्थरों से बना एक-एक…

क्यों खास है दिल्ली का अक्षरधाम मंदिर

‘अक्षर’ यानी कभी नष्ट न होने वाला। अपने नाम के अनुकुल ही अक्षरधाम के चप्पे-चप्पे पर भारतीय संस्कृति, ज्ञान और कला की जैसे एक पूरी…
error: Content is protected !!