नज़ारे, नागालैंड की ख़ूबसूरत ज़ूको वैली के

नागालैंड देश के उन राज्यों में से हैं, जिसके बारे में लोग आज भी कम जानते हैं. इस राज्य में क़रीब 17 जनजातियां रहती हैं जिनकी संस्कृति एकदम अनूठी है. यहां कई ऐसे ठिकाने हैं जहां खूबसूरती बाहें पसार कर आपका इंतज़ार करती है. इन्हीं में से एक है ज़ूको वैली. नागालैंड और मणिपुर की सीमा पर मौजूद ज़ूको वैली को पूर्वोत्तर की वैली ऑफ़ फ़्लावर भी कहा जाता है. नागालैंड की राजधानी कोहिमा से क़रीब एक घंटे बाद आप ज़ख़ामा पहुँचते हैं, जहां से ज़ूको वैली के लिए ट्रेकिंग शुरू होती है. आपकी चाल के मुताबिक वैली तक पहुँचने में क़रीब 3 से 5 घंटे का समय लगता है. आइए देखते हैं कैसी दिखती है नागालैंड की ये ख़ूबसूरत घाटी. 

उमेश पंत

उमेश पंत यात्राकार के संस्थापक-सम्पादक हैं। यात्रा वृत्तांत 'इनरलाइन पास' और 'दूर दुर्गम दुरुस्त' के लेखक हैं। रेडियो के लिए कई कहानियां लिख चुके हैं। पत्रकार भी रहे हैं। और घुमक्कड़ी उनकी रगों में बसती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *