दमन में घूमने आएँ और अरब सागर के किनारे बसी पुर्तगाली विरासत देखें

(Last Updated On: June 13, 2022)

पुराने क़िले, चर्च, समुद्री किनारे और शांत वातावरण, अगर आपको यह सब पसंद आता हो तो दमन आपके लिए घूमने का बेहतरीन विकल्प हो सकता है। चार सौ साल से भी ज़्यादा समय के लिए पुर्तगालियों के अधीन रहे दमन में आज भी औपनिवेशिक दौर की महक देखने को मिल जाती है।

कभी गोवा का हिस्सा रहा दमन अब दीव के साथ एक अलग केंद्र शासित प्रदेश है जहां घूमने के लिए आपको बहुत कुछ मिल जाएगा।

दमन में घूमने की जगहें

(Places to visit in Daman)


नानी दमन

दमन गंगा नदी के ज़रिए यह शहर मुख्य रूप से दो भागों में बंटा है। इन दोनों भागों को दो पुल आपस में जोड़ते हैं। नानी दमन, इस नदी के एक तरफ़ वाला हिस्सा है। सेंट ज़ेरोम फ़ोर्ट यहाँ का मुख्य आकर्षण है जिसे नानी दमन क़िला भी कहा जाता है। दमन में घूमने की जगहों में यह एक बेहतरीन विकल्प है।

इस क़िले का विस्तार करीब 1250 वर्ग मीटर में है और ख़ास बात यह है कि सत्रहवीं शताब्दी में बने इस किले को बनने में क़रीब पचास साल लगे। क़िले की चारदीवारी पर चढ़कर आप चारों ओर से नानी दमन के नज़ारे देख सकते हैं। साथ ही दमन गंगा नदी भी यहाँ से आपको देखने को मिलती है।

चैपल ऑफ आवर लेडी ऑफ रोजरी चर्च नानी दमन का प्रमुख आकर्षण है। सोलहवीं सदी में बना यह चर्च दमन के सबसे पुराने चर्च में से एक है।


मोटी दमन

दमन गंगा नदी के दूसरी ओर मोटी दमन का इलाक़ा है। यहाँ मौजूद मोटी दमन क़िला भी पुर्तगालियों के साम्राज्य की याद दिलाता है। क़िले की ख़ास बात यह है कि इसके चारों तरफ़ खूबसूरत सड़कें बनी हैं जिनके किनारे छोटे-छोटे बगीचे और फूलों से लदे सुंदर पेड़ हैं।

इन साफ़-सुथरी सड़कों के किनारे बढ़िया कैफ़े भी हैं जहां आप अच्छा वक्त बिता सकते हैं। मोटी दमन फ़ोर्ट के बाहर एक बगीचा है जहां एक बड़ा-सा टैंक रखा गया है।

कहा जाता है कि पुर्तगाली दरअसल समुद्री तूफ़ान की वजह से रास्ता भटककर दमन पहुँचे और यह जगह उनको इतनी पसंद आई कि यहाँ उन्होंने अपनी बस्तियाँ बसा ली और फिर साढ़े चार सौ सालों तक राज किया। इस बीच मुग़ल आक्रमणकारियों से बचाव के लिए उन्होंने यहाँ कई क़िले बनाए।

इसी दौर में बनाया गया मोटी दमन का बोम जीजस चर्च पुर्तगाली वास्तुकला की बानगी पेश करता है। चर्च में लकड़ी की एक बेहद कलात्मक नक्काशीदार वेदी है जिसे सुनहरे रंग से रंगा गया है।

साथ ही, इसके दरवाज़ों पर की गई कारीगरी भी देखने लायक है। इस चर्च में मौजूद छह संतों की मूर्तियाँ भी यहाँ का प्रमुख आकर्षण है। यह चर्च रोमन-कैथोलिक वास्तुकला का बेहतरीन नमूना है।


दमन के समुद्री किनारे

Daman

 

दमन अरब सागर की इठलाती लहरों वाले अपने समुद्री किनारों के लिए मशहूर है। हांलाकि इनमें से कुछ बीच पथरीले ज़रूर हैं और तैरने के लिहाज़ से बहुत साफ़-सुथरे नहीं हैं लेकिन फिर भी यहाँ करने को बहुत कुछ है।

महाराष्ट्र और गुजरात की सीमाओं से लगे होने के कारण दमन में आपको परिवार के साथ आए पर्यटकों की भी अच्छी ख़ासी चहल-पहल मिलेगी।

यहाँ के बीच पर आपको स्ट्रीमर, बनाना राइड, और पैरासेलिंग जैसे अनुभव भी मिलते हैं इसलिए युवाओं के बीच ये समुद्री किनारे वीकेंड डेस्टिनेशन के तौर पर भी ख़ासा लोकप्रिय हैं।


देवका बीच

नानी दमन से क़रीब तीन किलोमीटर दूर देवका बीच दमन का एक अहम पर्यटक स्थल है। यहाँ समुद्र के किनारे टहलने के लिए फूटपाथ बनाए गए हैं साथ ही बच्चों के खेलने के लिए कई पार्क भी हैं जहां आप परिवार के साथ बीच पर छुट्टियों का मज़ा ले सकते हैं।

जंपोर बीच

मोटी दमन से दक्षिण की तरफ़ मौजूद जंपोर बीच दमन का एक और लोकप्रिय समुद्री किनारा है। कैसुरीना नाम के ख़ास पौधे की छायादार झाड़ियाँ यहाँ जगह-जगह देखने को मिल जाती हैं।

इस विस्तृत रेतीले किनारे पर आप घुड़सवारी और ऊँट की सवारी का मज़ा भी ले सकते हैं। आप यहाँ आकर मोटी दमन बीच पर सूर्यास्त के नज़ारे भी देख सकते हैं। अगर आप समुद्री किनारे पर एकांत का मज़ा लेना चाहते हैं तो दमन से 27 किलोमीटर दूर गोमतीमाला बीच भी जा सकते हैं।

दमन में घूमने की जगहों में यह बीच अभी उतना लोकप्रिय नहीं है इसलिए यहाँ आप शांति से सूर्योदय और सूर्यास्त के नज़ारों का आनंद ले सकते हैं।


मीरसोल लेक गार्डन

मीरासोल लेक गार्डन एक अम्यूज़मेंट पार्क है जहां बनी मानवनिर्मित झील पर आप बोटिंग का मज़ा ले सकते हैं। यहाँ दो टापू भी बने हैं जो आपस में एक पुल के ज़रिए जुड़े हुए हैं। बच्चों के लिए इस गार्डन में टॉय ट्रेन भी है। गार्डन के पास ही वॉटर पार्क भी है जो इसे पिकनिक के लिए बेहतरीन जगह बनाता है।

इनके अलावा दमन का लाइटहाउस भी यहाँ की एक पहचान है। लाइटहाउस से आप पूरे दमन का नज़ारा देख सकते हैं। यहाँ आप सूर्योदय या सूर्यास्त के समय आ सकते हैं और बेहतरीन आकाशीय नज़ारे का आनंद ले सकते हैं। अपनी तरह का इकलौता सत्यनारायण मंदिर, भगवान महावीर का जैन मंदिर और सोमनाथ मंदिर भी दमन के अन्य आकर्षणों में शुमार हैं।


दमन कब जाएँ

अक्टूबर से अप्रैल के बीच दमन आकर आप यहाँ की ख़ुशनुमा समुद्री हवाओं का आनंद उठा सकते हैं। जून से सितंबर के बीच आप मानसून का मज़ा लेना चाहें तो दमन में घूमने आ सकते हैं। हालाँकि भारी बारिश के चलते थोड़ी-बहुत दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।


दमन कैसे जाएँ

दमन में घूमने जाने के लिए नज़दीकी हवाई अड्डा नानी दमन में है। जहां के लिए वड़ोदरा और मुंबई जैसे शहरों से नियमित उड़ानें हैं। नज़दीकी रेलवे स्टेशन वापी है जो देश के मुख्य शहरों से जुड़ा है और शहर से क़रीब बारह किलोमीटर की दूरी पर है। अगर आप सड़क मार्ग से दमन में घूमने आना चाहें तो पश्चिमी भारत के लगभग सभी अहम शहरों से यहाँ के लिए सीधी बसें भी मौजूद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
फी फी आइलैंड फुकेत में घूमने की जगहें ट्रैवल इंश्योरेंस क्या है और क्यों है ज़रूरी मुनस्यारी में घूमने की टॉप 5 जगहें थाईलैंड के फुकेत में घूमने की टॉप 5 जगहें थाईलैंड ट्रिप से पहले जान लें ये 5 ज़रूरी बातें भारत में घूमने के लिए टॉप 10 झीलें शिलांग में घूमने की टॉप 5 जगहें मुंबई के आस-पास के टॉप 5 बीच उत्तराखंड में घूमने की टॉप 6 जगहें जयपुर में घूमने की टॉप 5 जगहें