देखिए कैसी लगती है शिलोंग की वार्ड्स लेक

मेघालय के शिलोंग शहर के बीचों-बीच शांति, सुकून और प्रकृति की सुंदरता की पनाह में ले जाने वाला एक खूबसूरत ठिकाना है, वार्ड्स लेक. कहते हैं कि इस मानव निर्मित झील को जेल में बोर हो रहे एक कैदी ने बनाया था. शहर के बीच में होते हुए भी शोर से दूर होना इस लेक की ख़ासियत है. कुछ लोग यहां पिकनिक मनाने आते हैं तो कुछ एक शांत कोने में बैठकर ख़यालों में डूब जाने के लिए. बोटिंग, झील के किनारे कंकरीट की पगडंडी पर वॉक या फिर नाचते हुए फ़व्वारों को देखने आप यहां आ सकते हैं. सूरज के डूबने से ठीक पहले इस झील की छटा ही कुछ और होती है. पंछियों और हंसों के झोड़ों के साथ ही नौजवान प्रेमी युगल भी यहां अपने लिए एकांत के कुछ पल निकाल लेते हैं और बुज़ुर्ग भी यहां सुस्ताते हुए आपको मिल जाएंगे. कुल-मिलाकर अगर आप शिलोंग आए हैं तो वार्ड्स लेक जाना बिलकुल मत भूलिएगा. कैसा लगता है वार्ड्स लेक में होना इसका अहसास लेने के लिए यात्राकार के यूट्यूब पेज पर ये वीडियो भी आप देख सकते हैं.

 

उमेश पंत

उमेश पंत यात्राकार के संस्थापक-सम्पादक हैं। यात्रा वृत्तांत 'इनरलाइन पास' और 'दूर दुर्गम दुरुस्त' के लेखक हैं। रेडियो के लिए कई कहानियां लिख चुके हैं। पत्रकार भी रहे हैं। और घुमक्कड़ी उनकी रगों में बसती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *