17 हज़ार फ़ीट की ऊँचाई पर दिखती है ज़िंदगी की गहराई

यह उमेश पंत के यात्रावृत्तांत ‘इनरलाइन पास’ का एक अंश है. पूरा यात्रा वृत्तांत पढ़ने के लिए किताब यहां से मंगा सकते हैं.   हम…
error: Content is protected !!