20 हज़ार फ़ीट से भी ज़्यादा ऊंचे ओम पर्वत की यात्रा

यह उमेश पंत के यात्रावृत्तांत ‘इनरलाइन पास’ का एक अंश है. पूरा यात्रा वृत्तांत पढ़ने के लिए किताब यहां से मंगा सकते हैं. हम इस…

वैली ऑफ़ फ़्लावर यात्रा : भाग-2

वैली ऑफ़ फ़्लावर यात्रा का पहला हिस्सा यहां पढ़ें.  चौथा दिन  गोविंदघाट–घंघरिया 27 जून 2016 सुबह-सुबह हम गोविंदघाट के अपने होटल से निकल गए. गुरुद्वारे…

वैली ऑफ़ फ़्लावर यात्रा : भाग-1

पहला दिन  दिल्ली– देवप्रयाग 24 जून 2016   वैली ऑफ़ फ़्लावर जाने की तमन्ना बहुत पुरानी थी. जून का महीना चल रहा था. साल था…

पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-3

यहां पढ़ें पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-1 पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-2 दिन 4 14 जून 2019 फुरकिया–ज़ीरो पॉइंट–द्वाली सुबह-सुबह नींद खुली तो सर का भारीपन…

पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-2

यहां पढ़ें : पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक – भाग एक  दिन 3 13 जून 2019 खाती–फुरकिया सुबह के 8 बजे जब हम खाती गाँव से निकले तो…

पिंडारी ग्लेशियर ट्रैक : भाग-1

नौ जून की रात के नौ बजे तक मैं अपना सारा ज़रूरी सामान एक रकसैक में डाल चुका था। कुछ गर्म कपड़े, साफ़-सफ़ाई का सामान,…

लपक के छूना हिमालय को : ब्रह्मताल ट्रेकिंग भाग-2

विनीता यशस्वी नैनीताल से हैं. खूब घुमक्कड़ी करती हैं और देखे गए नज़ारों को शानदार तस्वीरें में भी उकेरती हैं. उत्तराखंड के ब्रह्मताल ट्रेकिंग के…

लपक के छूना हिमालय को : ब्रह्मताल ट्रेकिंग भाग-1

विनीता यशस्वी नैनीताल से हैं. खूब घुमक्कड़ी करती हैं और देखे गए नज़ारों को शानदार तस्वीरें में भी उकेरती हैं. उत्तराखंड के ब्रह्मताल ट्रेकिंग के…

रानीखेत : एक जगह जो एक साथ प्रेमी और वैरागी बना देती है-2

लतिका जोशी पत्रकार हैं. उत्तराखंड से हैं. कहानियां और कविताएं भी लिखती हैं. आज पेश है रानीखेत और उसके आस-पास के इलाके में की गई…

तो ऐसी है वैली ऑफ़ फ़्लावर्स की दुनिया

उत्तराखंड में यूं तो ट्रेकिंग के कई ठिकाने हैं, लेकिन एक जगह जहां आपको अपनी ज़िंदगी में एक बार ज़रूर जाना चाहिए वो है-वैली ऑफ़…

केदारकांटा की ऊँचाइयों से साल 2017 को अलविदा

उमेश पंत : साल निकलने को था और साल के निकलने से पहले मुझे भी निकलना था। दिमाग़ में जो धूल जम रही थी उसे…

पिंडारी ग्लेशियर जाना है? ये रहा तरीक़ा

केशव भट्ट : पिंडर घाटी क्षेत्र में पिंडारी ग्लेशियर के अलावा, कफनी तथा मैकतोली आदि ग्लेशियर हैं। बागेश्वर से इन क्षेत्रों में जाने के लिए…
Aadi Kailas trek last point

17 हज़ार फ़ीट की ऊँचाई पर दिखती है ज़िंदगी की गहराई

यह उमेश पंत के यात्रावृत्तांत ‘इनरलाइन पास’ का एक अंश है. पूरा यात्रा वृत्तांत पढ़ने के लिए किताब यहां से मंगा सकते हैं.   हम…

सोलांग वैली : बर्फ से बाबस्ता वो ढाई घंटे

ये एक आम ट्रिप होने जा रहा था. हम पहली रात कुल्लू (हिमांचल प्रदेश) में एक होटल बुक कर चुके थे. जिसकी बालकनी से जगमगाता…
error: Content is protected !!