एक पोस्टकार्ड ‘चाय कंट्री’ कर्स्यांग से

कर्स्यांग पश्चिम बंगाल के दार्ज़ीलिंग ज़िले का एक पहाड़ी इलाक़ा है जिसे ‘चाय कंट्री’ भी कहते हैं. पढ़िए, दार्ज़ीलिंग से

Read more

वो टीवी वाला कश्मीर नहीं था

अनु सिंह चौधरी : एक टीवी जर्नलिस्ट रही अनु सिंह चौधरी जब कश्मीर गई तो उन्हें वो कश्मीर कहीं नज़र

Read more

ईमानदारी केवल उत्तराखंड की ही बपौती नहीं है : भाग-1

विनीत फुलेरा : उत्तराखंड के पहाड़ों से ताल्लुक़ रखने वाले विनीत फुलेरा ने ‘यात्राकार’ के लिए ये यात्रा वृत्तांत भेजा

Read more

बाइक डायरी-देहरादून से रुद्रप्रयाग

नेहा प्रकाश बाइक यात्रा सबसे रोमांचकारी और मजेदार होती है, खासकर जब आप पहाड़ों की यात्रा कर रहे हों, क्योंकि कभी

Read more

केदारकांटा की ऊँचाइयों से साल 2017 को अलविदा

उमेश पंत : साल निकलने को था और साल के निकलने से पहले मुझे भी निकलना था। दिमाग़ में जो

Read more

पिंडारी ग्लेशियर जाना है? ये रहा तरीक़ा (भाग-2)

केशव भट्ट : पिंडारी से छाँगूच, नंदा खाट, बल्जुरी के साथ ही नंदाकोट के भव्य दर्शन होते हैं। अंग्रेज शासक

Read more

पिंडारी ग्लेशियर जाना है? ये रहा तरीक़ा

केशव भट्ट : पिंडर घाटी क्षेत्र में पिंडारी ग्लेशियर के अलावा, कफनी तथा मैकतोली आदि ग्लेशियर हैं। बागेश्वर से इन

Read more

उस शाम जब मुझे लगा कि मैंने ज़िंदगी की सबसे बड़ी ग़लती कर दी है

कंचन पंत : 11 नवंबर की उस शाम मैं धौलीधार रेंज की एक पहाड़ी के ऊपर खामोश बैठी थी। मेरे

Read more

नापना पहाड़ ! छूना गहराइयां

अनु सिंह चौधरी :  आदित पहाड़ की एक चोटी पर खड़ा है। अभी-अभी ठीक दस मिनट पहले मैंने उस चोटी

Read more

अरी ओ किस्मत! हमें घुमन्तू बनाए रखना

 अनु सिंह चौधरी : हम तीन जनों के बीच में डेढ़ सीटें हैं – आरएसी वाली। बच्चों के साथ ट्रेन

Read more

नीले पानी में सफ़ेद इमारतों के अक्स वाला शहर

अनुलता राज नायर : कितनी मीठी गुज़ारिश है…और किसी शहर की गुज़ारिश ठुकराई न जा सके वो शहर मेरे ख़याल

Read more

घुमक्कड़ी, घुमक्कड़ों की नज़र से

दुनिया के मशहूर घुमक्कड़, घुमक्कड़ी की अहमियत बताते हुए बहुत कुछ कह गए हैं. पेश हैं उन्हीं में से कुछ

Read more

कच्‍छ कथा-1 : थोड़ा मीठा, थोड़ा मीठू

अभिषेक श्रीवास्तव  : गुजरात की सरकार पिछले कई दिनों से एक विज्ञापन कर रही है जिसमें परदे पर अमिताभ बच्‍चन

Read more

17 हज़ार फ़ीट की ऊँचाई पर दिखती है ज़िंदगी की गहराई

उमेश पंत :  सुबह उठते हुए कुछ देर हो गई. साढ़े सात बज चुका था. “अरे आप लोग उठे नहीं

Read more

वो पहाड़ जहां कल्पनाएं उड़ान भरती हैं

रोहित जोशी :   तेज़ बर्फीली हवाओं से घिरा नाभीडांग! मनमोहक वनस्पति को हम काफी नीचे छोड़ आए हैं. अब

Read more

सोलांग वैली : बर्फ से बाबस्ता वो ढाई घंटे

उमेश पंत :   ये एक आम ट्रिप होने जा रहा था. हम पहली रात कुल्लू (हिमांचल प्रदेश) में एक

Read more